Breaking News

Breaking News

झुंझुनूं में वाइल्डलाइफ टूरिज्म शानदार स्तर पर, जल्द शुरू होगी सफारी भी

By Sport Articles team|29 Apr 2022


ताल छापर अभ्यारण की तर्ज पर विकसित किए जा रहे झुंझुनूं भीड़ में इन दिनों काले हिरणों के आने का सिलसिला लगातार जारी है. यहां अब तक करीब 45 काले हिरणों को बीकानेर से लाया जा चुका है.


Jhunjhunu City: झुंझुनूं के सूनसान भीड़ में वन विभागे जरिए बनाए गए अभ्यारण के प्रयास अब रंग लाने लगे हैं. ताल छापर अभ्यारण की तर्ज पर विकसित हो रहा झुंझुंनू का भीड़ अब काले हिरणों के कुलांचों और पक्षियों के कलरव के साथ गूंज रहा है. कुलांचे भरते हिरणों के नजारों को देखने के लिए हर कोई इस बीड़ क्षेत्र की ओर आकर्षित हो रहा है. इसके साथ ही हेरिटेज पर्यटन के साथ-साथ वाइल्डलाइफ टूरिज्म का विदेशी सैलानी आनंद ले सकेंगे. इको टूरिज्म के बढ़ावे के बाद झुंझुनूं पर्यटन के नए आयाम स्थापित करेगा. 

ताल छापर अभ्यारण की तर्ज पर विकसित किए जा रहे झुंझुनूं भीड़ में इन दिनों काले हिरणों के आने का सिलसिला लगातार जारी है. यहां अब तक करीब 45 काले हिरणों को बीकानेर से लाया जा चुका है.  वन विभाग और पर्यटन विभाग इको टूरिज्म को लेकर इस परियोजना में साथ काम कर रहे हैं. जिसके लिए  झुंझुनूं के बीट क्षेत्र में पर्यटन विकास पर अब करीब डेढ़ करोड़  निवेश किए जाएंगे. वन विभाग जल्द ही झुंझुनूं भीड़ में काले हिरणों को देखने को लेकर सफारी की व्यवस्था शुरू करने वाला है. इसको लेकर ट्रैक का निर्माण भी किया जाएगा. 

साथ ही भीड़ क्षेत्र में अन्य सुविधाएं भी जुटाई जाएगी. जिला वन अधिकारी के मुताबिक बीड़ वन क्षेत्र में ना केवल काले हिरणों को छोड़ा गया है. बल्कि इनके साथ कुछ और प्रजाति के हिरणों को भी छोड़ा गया हैं. उन्होंने बताया कि बीड़ में कुल 48 काले हिरणों को छोड़ा जाएगा. हालांकि बीड़ में नीलगाय, लोमड़ी, जंगली बिल्ली, मोर, तीतर, खरगोश समेत  जानवरों की कई प्रजातियां है. बता दें कि इन हिरणों को जांगल प्रदेश जैसे क्षेत्रों में से पांच राउंड में झुंझुनूं लाया गया है. डीएफओ राजेंद्र कुमार हुड्डा ने बताया कि हिरणों के लिए बीड़ में धामण जैसी पर्याप्त घास, मूंग, ग्वार का चारा और पानी व्यवस्था पहले से ही कर दी गई है. डीएफओ राजेंद्र कुमार हुड्डा ने बताया कि बीड़ में तीन नई चौकियां स्थापित की गई है. वहीं एक सॉलर ट्यूबवेल बनाया गया. जिसको वॉटर हॉल से जोड़ा गया है. जो पानी के भरे रहते हैं.

वाइल्ड लाइफ टूरिज्म को हेरीटेज टूरिज्म के साथ जोड़ने को लेकर काम किया जा रहा है. देशी और विदेशी को अपनी ओर खींचने वाले यहां के गढ़ किले और हवेलियों के बाद यहां का वाइल्डलाइफ टूरिज्म भी अब इन्हें अपनी ओर आकर्षित करेगा. आने वाले दिनों में लोग झुंझुनूं में बांसियाल झुंझुनूं बीड़ और मनसा माता कन्वर्जन क्षेत्र में वाइल्डलाइफ टूरिज्म का आनंद लेते दिखेंगे. 

बीड़ वन क्षेत्र में हिरणों को लाने से अब पर्यटन को भी काफी बढ़ावा मिलेगा. पर्यटन विभाग के अधिकारियों के अनुसार जिले के समीप लगते बीड़ वन क्षेत्र में अब पर्यटन की अपार संभावनाएं बढ़ गई है. पास पड़ौस के ग्रामीणों के साथ देश विदेश से भी पर्यटक बीड़ का दौरा कर आनंद महसूस करेंगे. बीड़ वन क्षेत्र में काले हिरणों को छोड़ने की खबर जब से आस-पास के लोगों तक पहुंची है. तब मानों इधर से गुजरते लोगों की निगाह टकाटक बनी रहती है. बीड़ में पहली बार हिरणों को अठखेलियां करते देख लोग मोबाइल फोन में दृश्य कैद करने से नहीं चुके रहे हैं.

इधर, झुंझुनूं पंचायत समिति प्रधान पति महेश चाहर ने भी बीड़ का निरीक्षण किया. उन्होंने बीड़ में बने व्यू प्वाइंट से अठखेलियां करते हिरणों के झुंड को देख चाहर खुश हुए  और कहा कि बीड़ में वन विभाग की ओर से किए गए प्रयास सराहनीय है. आस-पास के ग्रामीणों को इसके लिए और जागरूक किया जाएगा. तथा वन विभाग के सामने आने वाली परेशानियों को दुरुस्त करने का भी प्रयास किया जाएगा. साथ ही बीड़ वन क्षेत्र में विचरण करते काले हिरणों को देखकर दिल बाग बाग हो गया. हमारी ओर से बीड़ के प्रति ग्रामीणों को जागरूक तथा वन विभाग का सहयोग किया जाएगा.

झुंझुनूं में वाइल्डलाइफ टूरिज्म शानदार स्तर पर, जल्द शुरू होगी सफारी भी Reviewed by Sport Articles on अप्रैल 29, 2022 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Sport Articles All Right Reseved |

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.